Hindu Law Test in HINDI

As per your demand Lawpreparation’s Test series in hindi.try to pay your voluntary fee if you likes and want our such efforts on regular basis

1. हिंदू विवाह अधिनियम 1955 की धारा 11 तथा 12 के अंतर्गत शून्य याशून्यकरणीय विवाह से उत्पन्न संतान मानी जाएगी—-

 
 
 
 

2. विवाह के समय दोनों में से यदि कोई पक्षकार चित्तविकृति के परिणाम स्वरूप विधि मान्य सहमति देने में असमर्थ हो तो ऐसा विवाह हिंदू विवाह अधिनियम के अंतर्गत होगा

 
 
 
 

3. हिंदू विवाह अधिनियम 1955की निम्नलिखित में से किस धारा के अंतर्गत पति और पत्नी आपसी सहमति से विवाह विच्छेद की याचिका दायर कर सकते हैं—?

 
 
 
 

4. आपसी सहमति द्वारा विवाह विच्छेद का सिद्धांत हिंदू विवाह अधिनियम 1955 मैं समाविष्ट किया गया था वर्ष–?

 
 
 
 

5. अधिनियम की धारा 11 के अंतर्गत 2 हिंदुओं के बीच अनुष्ठान किया गया कोई विवाह शून्नय नहीं माना जाएगा यदि_
एक पक्ष कार का पति या पत्नी विवाह के समय जीवित है

 
 
 
 

6. एक नपुंसक की शादी की प्रकृति है—-

 

 
 
 
 

7. हिंदू पति द्वारा जार कर्म प(स्त्री गमन)

 
 
 
 

8.

एक 28 वर्षीय हिंदू है”” जो 25 वर्षीय हिंदू है, हिंदू रीति रिवाज के अनुसार विवाह करता है यह पता चलता है कि विवाह के समय”अन्य व्यक्ति से गर्भवती है__का ” क”एवंके बीच विवाह—-

शुन्य है

 
 
 
 

9.

विवाह के समय दोनों में से यदि कोई पक्षचित्त-विकृति के परिणाम स्वरूप विधिमान्यसहमति  देने में असमर्थ हो तो ऐसा विवाह हिंदू विवाह अधिनियम के अंतर्गत होगा–

 
 
 
 

10. हिंदू विवाह अधिनियम 1955 के अंतर्गत विवाह के समय एक हिंदू लड़की की आयु 18 वर्ष से कम होने का क्या परिणाम है?

 
 
 
 

11. अपने बड़े भाई की विधवा से विवाह–

 

 
 
 
 

12. हिंदू विधि के अंतर्गतशून्य या शून्कयर्णीय विवाह की संतान होती है

 
 
 
 

13. हिंदू विवाह अधिनियम 1955 की धारा 13 (2) के अंतर्गत विवाह विच्छेद का अधिकार दिया गया है

 
 
 
 


जैसा कि आप ने चाहा हमने  उसे पूरा करने का प्रयास किया प्रस्तुत है Lawpreparationकी ऑनलाइन हिंदी टेस्ट सीरीज। कृपयाअपने स्वैच्छिक फीस का भुगतान करने का प्रयास अवश्य करें, अगर आप हमारे इन प्रयासों को पसंद कर रहे हैं और उन्हें निरंतर तथा वाद्धय रूप से प्राप्त करना चाहते हैं,तो हमारी आपसे अपेक्षा है कि आप अपनी पसंद की स्वैच्छिक फीश का निम्नलिखित लिंक पर जाकर करने का प्रयास करेंगे धन्यवाद।🙏

http://lawpreparation.com/index.php/2020/05/19/try-to-make-payment-of-voluntary-fee-of-your-choice/

As per your demand Lawpreparation’s Test series in hindi.try to pay your voluntary fee if you likes and want our such efforts on regular basis

1. हिंदू विधि के अंतर्गतशून्य या शून्कयर्णीय विवाह की संतान होती है

 
 
 
 

2. हिंदू विवाह अधिनियम 1955की निम्नलिखित में से किस धारा के अंतर्गत पति और पत्नी आपसी सहमति से विवाह विच्छेद की याचिका दायर कर सकते हैं—?

 
 
 
 

3.

विवाह के समय दोनों में से यदि कोई पक्षचित्त-विकृति के परिणाम स्वरूप विधिमान्यसहमति  देने में असमर्थ हो तो ऐसा विवाह हिंदू विवाह अधिनियम के अंतर्गत होगा–

 
 
 
 

4. हिंदू विवाह अधिनियम 1955 की धारा 13 (2) के अंतर्गत विवाह विच्छेद का अधिकार दिया गया है

 
 
 
 

5. अधिनियम की धारा 11 के अंतर्गत 2 हिंदुओं के बीच अनुष्ठान किया गया कोई विवाह शून्नय नहीं माना जाएगा यदि_
एक पक्ष कार का पति या पत्नी विवाह के समय जीवित है

 
 
 
 

6. अपने बड़े भाई की विधवा से विवाह–

 

 
 
 
 

7. हिंदू विवाह अधिनियम 1955 की धारा 11 तथा 12 के अंतर्गत शून्य याशून्यकरणीय विवाह से उत्पन्न संतान मानी जाएगी—-

 
 
 
 

8. एक नपुंसक की शादी की प्रकृति है—-

 

 
 
 
 

9. आपसी सहमति द्वारा विवाह विच्छेद का सिद्धांत हिंदू विवाह अधिनियम 1955 मैं समाविष्ट किया गया था वर्ष–?

 
 
 
 

10. हिंदू विवाह अधिनियम 1955 के अंतर्गत विवाह के समय एक हिंदू लड़की की आयु 18 वर्ष से कम होने का क्या परिणाम है?

 
 
 
 

11. हिंदू पति द्वारा जार कर्म प(स्त्री गमन)

 
 
 
 

12.

एक 28 वर्षीय हिंदू है”” जो 25 वर्षीय हिंदू है, हिंदू रीति रिवाज के अनुसार विवाह करता है यह पता चलता है कि विवाह के समय”अन्य व्यक्ति से गर्भवती है__का ” क”एवंके बीच विवाह—-

शुन्य है

 
 
 
 

13. विवाह के समय दोनों में से यदि कोई पक्षकार चित्तविकृति के परिणाम स्वरूप विधि मान्य सहमति देने में असमर्थ हो तो ऐसा विवाह हिंदू विवाह अधिनियम के अंतर्गत होगा

 
 
 
 


Leave a Reply

%d bloggers like this: